मोहाली विकास मंच ने जानी इंडस्ट्रीयल एरिया और कॉल सेंटर मे काम करने वाली महिलायों की समस्याएँ

0
881

देर रात इंडस्ट्रीयल एरिया मे काम करना महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं

pic 2(1)
मोहाली विकास मंच की अध्यक्षा सरोज नेहा वर्मा मोहाली इंडस्ट्रीयल एरिया में कामकाजी महिलाओं की समस्याएँ जानते हुए

मोहाली विकास मंच की तरफ से चलाए गए अभियान के तहत महिलाओं की समस्याएँ जानने की कोशिश की मोहाली विकास मंच महिला विंग की अध्यक्ष सरोज नेहा वर्मा ने यहाँ इंडस्ट्रीयल एरिया मे जाकर वह काम कर रही महिलओं से बात चीत की और उनकी परेशानियां जानने की और टीम ने आज इंडस्ट्रीयल एरिया मे जाकर वहां काम कर रही महिलायों से बात चीत की और उनकी परेशानियां जानने की कोशिश की मोहाली इंडस्ट्रीयल एरिया मे कई उद्योग और कॉल सेंटर है जहां महिलाएँ दूर दराज के क्षत्रों से काम करने के लिए आती हैं| समस्याओं मे सबसे बड़ी दिक्कत यह बताई गयी कि निजी क्षेत्र मे काम करने करने का कोई ठोस नियम नही है | काम की अधिकता के कारण अँधेरा भी हो जाता है, जिससे महिलओं में असुरक्षा बढ़ जाती है | मौक़े पे मौजूद महिलओं ने बताया कि चोर और झपटमार अँधेरे का फायदा उठाकर झपटमारी की वारदातों को अंजाम देते है | चरणजीत कौर भावना, रेखा, पिंकी आदि ने बताया की कई बार हमें शराबी और मनचलों की फ़ब्तिया सुनने को मिलती है| महिलाएँ देर से छुट्टी होने के कारण और कंपनी की कैब सर्विस न होने के कारण महिला कर्मचारियों को काफी परेशानी से गुजरना पड़ रहा है यहाँ तक की महिलाओं की सुरक्षा के लिए पीसीआर सेवा भी नहीं है मोहाली विकास मंच की अध्यक्ष सरोज नेहावर्मा ने मोहाली प्रशाशन से आग्रह किया है कि महिलाओं की सुरक्षा के लिए इंडस्ट्रीयल एरिया मे वेशेष तौर पर महिला महिला पुलिस कर्मी पीसीआर की व्यवस्था सुनिष्चित की जाए ताकि महिलाओं मे असुरक्षा की भावना नहीं पनप सके| उन्होंने ये भी मांग की किदेर रात तक उद्योगिक क्षेत्र मे लोकल बस सर्विस शुरू की जाए, ताकि काम काज से निपटने के बाद देर रात तक अपने घर सुरक्षित पहुच सके | और किसी तरह परेशानी का सामना न करना पड़े |